ओपल रत्न के फायदे और नुकसान 2022 |Opal Stone ke Fayde

ओपल रत्न के फायदे और नुकसान: अब तो पैसा ही पैसा होगा

दोस्तों, हमारे ज्योतिष शास्त्र में कुल 81 उपरत्न और 9 रत्नों का वर्णन मिलता है, जिसमे से सभी रत्नों का किसी न किसी ग्रह से तालुक है। इसी प्रकार ओपल भी एक रत्न है और यह शुक्र ग्रह से तालुक रखता है। 

कभी कभी किसी व्यक्ति की कुंडली में शुक्र कमजोर होता है जिसकी वजह से सुख समृद्धि, सामाजिक स्थिति और शारीरिक स्वास्थ्य से वह व्यक्ति वंचित रहता है इसी कारण से ज्योतिष कमजोर शुक्र ग्रह वालो को ओपल रत्न पहनने की सलाह देते है जिससे उन पर शुक्र का बुरा प्रभाव न पड़े।

ओपल रत्न कैसा होता है ?ओपल रत्न के फायदे और नुकसान

यह एक पारदर्शी रत्न है, यह रत्न सभी रत्नों की तुलना में सबसे अधिक रंगीन होता है। यह अपने विशेष इंद्रधनुषी रंग के कारण सभी रत्नों से भिन्न दिखता है। दूधिया रंग के ओपल रत्न की सहायता से सबसे अधिक प्रभाव एक अच्छे वैवाहिक जीवन को बनाने में पड़ता है। ओपल ऑस्ट्रेलिया, इथियोपिया, मैक्सिको, ब्राजील, सूडान और अमेरिका की खानों में पाया जाने वाले एक अनोखा रत्न है। सभी ओपलो में सबसे अधिक ऑस्ट्रेलियाई ओपल अपने रंग और सुंदरता के लिए प्रसिद्ध है।

ओपल रत्न पहनने के फायदे ?

ओपल रत्न एक बहुत कीमती रत्न माना जाता है ऐसे में इसके कई सारे फायदे है जो oi निम्नलिखित है – 

  • यह रत्न उन लोगो को लाभ दे सकता है जो लोग कपड़े, फैशन, गहने, महंगे, कपड़े, कार, खनिज व्यापारी आदि का व्यवसाय करते है।
  • यह रत्न उनको बहुत फायदा देता है जो आयत और निर्यात का व्यवसाय करते है।
  • इस रत्न की सहायता से वैवाहिक जीवन अच्छा होता है।
  • इस रत्न को पहनने से व्यक्ति बहुत ज्यादा आकर्षक हो जाता है।
  • यह रत्न उन लोगो को खास तौर पर फायदा पहुंचा सकता है जो संगीत, कलाकार, पेंटिंग, नृत्य, टीवी, फिल्म, कंप्यूटर, आईटी आदि का कार्य करते है।
  • इस रत्न को धारण करने से सौंदर्य का विकास होता है।
  • जिन लोगो का वैवाहिक जीवन खराब रहता है अक्सर लड़ाई और झगड़े होते है उनका वैवाहिक जीवन अच्छा करने के लिए ओपल फायदा पहुंचा सकता है।
  • यह रत्न आंखों से संबंधित रोगों, मानसिक तनाव, उदासीनता, आलस्य, लाल रक्त कोशिकाओं से संबंधित रोगों को ठीक करने में लाभ देता है।
  • यह आपके स्वास्थ्य को अच्छा करता है और आपको शारीरिक रूप से फिट रखता है।

Read Also-पुखराज स्टोन के फायदे

ओपल रत्न पहनने के नुकसान ?

ओपल रत्न के फायदे तो बहुत है किंतु इसके कुछ नुकसान भी है जो की निम्नलिखित है –

  • ध्यान रहे आपको टूटा हुआ ओपल नही पहनना चाहिए यह आपको नुकसान पहुंचा सकता है।
  • लाल किताब के अनुसार यदि शुक्र तीसरे, पांचवें और आठवें भाव में हो तो ओपल नहीं पहनना चाहिए।
  • यदि आपकी कुंडली में शुक्र, मंगल या गुरु राशि में बैठा हो तो यह आपको आत्महत्या और पाप जैसे कामों के लिए बढ़ावा देता है।
  • अगर आपने माणिक्य और मूंगा को धारण करा है तो ध्यान रहे इसके साथ आप ओपल रत्न को धारण न करें।

ओपल रत्न क्यों पहनना चाहिए ?

ज्योतिष शास्त्र के मुताबिक, यह सफेद रंग का रत्न शुक्र ग्रह को ठीक करने के लिए काफी असरदार है। जिससे इसको धारण करने से आर्थिक स्थिति में काफी हद तक का परिवर्तन देखने को मिलता है। इस रत्न को धारण करने से व्यक्ति की सामाजिक लोकप्रियता भी बढ़ती है जिससे यह किसी राजनेता के लिए एक अच्छा विकल्प हो सकता है।

ओपल रत्न को धारण करने का सही समय ?

दोस्तों, सभी रत्नों को धारण करने की अपनी एक अलग विधि और समय होता है। वैसे ही ओपल रत्न को धारण करने के लिए भी एक विधि और समय है। अगर आप भी ओपल रत्न को धारण करना चाहते है तो आपको किसी भी माह के शुक्ल पक्ष के शुक्रवार के दिन इसको धारण करना चाहिए।

ओपल रत्न को धारण करने की विधि ?

अगर आप भी ओपल रत्न को धारण करना चाहते है तो आपको ध्यान रखना चाहिए की आपको ऊपर बताए गए समय पर इसको धारण करना है और इसको आप अपने सीधे हाथ की अनामिका उंगली में ही धारण करें और ध्यान रखे कि आप अपनी उंगली को पहले दूध और गंगा जल से धो कर पवित्र कर ले।

ओपल को किसी धातु में पहनना चाहिए ?

वैसे तो इसको धारण करने के लिए आप सोने या पंचधातु का उपयोग कर सकते है किंतु अगर आप दूधिया ओपल को चांदी की धातु के साथ धारण करें तो यह उत्तम रहता है।

ओपल कितने प्रकार के पाए जाते है ?

वैसे तो यह प्रकृति में 16 प्रकार के पाए जाते है। और इसके उपरत्न भी कई प्रकार के होते है। किंतु अगर सबसे अच्छे किस्म के ओपल की बात करें तो यह काले और सफेद रंग का होता है जिसमे हल्की से लाल रंग की झलक देखने को मिलती हैं। इस प्रकार के रत्न बहुत अच्छे किस्म के माने जाते है और साथ में यह बहुत मूल्यवान भी होते है।

ओरिजनल ओपल रत्न की पहचान कैसे करते है ?

जब हम एक ओपल को खरीदने जाते है तो यह ध्यान रहे की हम एक सही ओपल ही खरीदे जिससे हमको ओपल के पूरे लाभ मिल सके। इसीलिए एक सही ओपल वही है जिसमे अगर प्रकाश डाला जाए तो इसका अजीबो गरीब प्रतिबिंब पड़ता है और साथ में इसमें प्रकाश डालने पर इससे गहरे रंग की रोशनी बाहर आती है।

ओपल को हिंदी में क्या कहते है ?

ओपल को हिंदी में हम दूधिया पत्थर के नाम से जानते है।

निष्कर्ष: दोस्तों, आज मेने आपको अपने लेख की सहायता से ओपल रत्न के फायदे और नुकसान के बारे में साथ में ओपल रत्न के बारे में पूरा परिचय दिया है जिससे अब आपके मन में ओपल रत्न से जुड़ा कोई अन्य सवाल नही होगा। मैं आशा करता हूं मेरे द्वारा दी गई जानकर आपको लाभ देगी तथा आप जिस जानकारी की खोज कर रहे थे आपको वह पूर्णतः मिल गई होगी।

Leave a Comment